Safe and Healthy Diwali मनाने के लिए सुझाव

0
330
Safe and Healthy Diwali मनाने के लिए सुझाव
Safe and Healthy Diwali मनाने के लिए सुझाव

Quick Tips to Celebrate a Safe Diwali

Safe and Healthy Diwali

दीपों का त्योहार -दिवाली Festival of Lights हमारे भारत देश के सबसे बड़े फेस्टिवल के रूप में मनाए जाने वाले त्योहारों में से एक है|यह प्रकाश का पर्व है, जो खुशियां ,उमंग और उत्साह लाता है। दिवाली का त्यौहार हम सभी के लिए बहुत एक्साइटिंग टाइम होता है खासतौर से Kids के लिए, जैसे जब हम बच्चे थे तो हमारे लिए यह त्योहार को लेकर बहुत ज्यादा उत्साह हुआ करता था| नए कपड़े ,मिठाई, और पटाखे का इस त्योहार पर हम सभी को साल भर इंतजार रहता है|दिवाली का शुभ अवसर हर साल भारतीयों द्वारा एक स्वादिष्ट तरीके से मनाया जाता है, जिसमें स्वादिष्ट मिठाइयां और सेवइयां, लक्ष्मी पूजन, चमकीले पारंपरिक कपड़े और हर एक घर में चमचमाती रोशनी होती है। रोशनी के इस त्योहार के दौरान उत्सव का एक अनिवार्य पहलू पटाखे फोड़ना भी होता है। लेकिन इस सब हम सभी को अपनी सुरक्षा का सबसे पहले ध्यान रखना चाहिए जिससे हम एक Safe and Healthy Diwali मना सके ।

Happy Diwali

हम आपको सुरक्षा बरतने के लिए इसलिए कह रहे है, क्योंकि हम दिवाली के जोश में हम कभी-कभी बहुत बड़ी लापरवाही कर बैठते हैं, जिसकी वजह से हमें काफी बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है। यह बात खासकर बच्चों के लिए और भी ज्यादा लागू होती है, वो त्योहार के मौके पर बहुत ज्यादा उत्साहित रहते हैं, लेकिन आप बड़े उनका पूरा खयाल रखें। बच्चों का एंजॉय करना भी बहुत जरूरी हैं लेकिन उनकी Safety पहले आती है। इस समय एक्सीडेंट और चोट लगने का खतरा भी ज्यादा होता है। हम आपको Happy और Safe and Healthy Diwali की कामना तो करते हैं, लेकिन हर साल आप कोई न कोई एक्सीडेंट या बर्न इंजरी के बारें में सुनते होंगे । इन सभी बातों को बताने का मकसद आपके रंग में भंग डालना नहीं है बल्कि आपको Alert करना है। पैरेंट्स के लिए यह बहुत जरूरी है कि त्योहार के मौके पर वो अपने एंजॉयमेंट के पीछे अपने बच्चे की Safety न भूल जाएं। आप बहुत सावधानी बरतने के साथ Diwali मनाएं और धार्मिक अनुष्ठानों का पालन भी करें ताकि बच्चे को त्योहार का सही महत्व समझ आए।

Safety tips for Diwali celebrations

AVOID BURSTING CRACKERS


इस दिवाली, firecrackers या burning waste के किसी भी रूप को न कहें, विशेष रूप से सार्वजनिक बगीचे या अलाव में सूखे पत्तों को, जैसा कि धुएं का कोई भी रूप COVID -19 महामारी के बीच गंभीर स्वास्थ्य चिंताओं को ट्रिगर कर सकता है जो अभी भी सक्रिय है। पटाखों से धुएं और रासायनिक वाष्प से कार्बन कण पहले से मौजूद एलर्जी की स्थिति को बढ़ा सकते हैं। वाष्प के कण लंबे समय तक नथुने से चिपक सकते हैं, एलर्जी राइनाइटिस को बढ़ा सकते हैं और अस्थमा और ब्रोंकाइटिस के दौरे को ट्रिगर कर सकते हैं। ये सभी फेफड़ों को प्रभावित करने के लिए बाध्य हैं|

कपड़े के फेब्रिक का रखें ध्यान-Take care of Clothes fabric

दिवाली त्योहार पर हम सभी अपने लिए कपड़े तो खरीदते ही हैं, लेकिन यह त्योहार है पटाखों का। ऐसे में आपके लिए यह बेहद सावधानी रखना जरूरी है कि आप कैसे फैब्रिक के कपड़े पहनें। दिवाली के दिन आप और आपके बच्चे कॉटन के कपड़े ही पहनें। किसी भी प्रकार के सिंथेटिक मटीरियल से खुद को और बच्चों को दूर रखें, क्योंकि कॉटन के कपड़ों में आग लगने की संभावना कम रहती है। इससे आप और आपका परिवार सुरक्षित रहेगा।

सैनेटाईज़र को आग से दूर रखे -KEEP SANITISER AWAY FROM FIRE


Sanitiser की बोतलें आजकल घरों में आम हैं, और लोगों ने Covid -19 महामारी के दौरान इसे रखना शुरू कर दिया है। लेकिन, चूंकि अधिकतम सैनिटाइज़र अल्कोहल-आधारित होते हैं, वे आसानी से आग पकड़ सकते हैं। इसलिए, अपने sanitiser की बोतलों को एक सुरक्षित जगह और आग से दुरी पर रखें।

ELDERLY TO STAY INDOORS
बाहर के ठंडे तापमान से बचने के लिए बुजुर्गों को घर के अंदर रहना चाहिए। सभी उम्र के लोगों को avoid physical congregations. से बचना चाहिए। इसके बजाय, virtual space पर परिवारों और दोस्तों से मिलें। ‘बेहतर सामान्य’ के साथ अच्छी तरह से रहें।

MAINTAIN SOCIAL DISTANCE
DIWALI उत्सव सभी के बारे में togetherness और strengthening bond बनाये रखता है। लेकिन इस त्योहारी सीजन, नए सामान्य के लिए प्रयास करें और try and adjust to the new normal and avoid meeting people physically.

DON’T FORGET YOUR MASK

जिम्मेदार होना और अनिवार्य सावधानी बरतना महत्वपूर्ण है। covid -19 ने मास्क के उपयोग को आवश्यक बना दिया है। इसलिए, हर बार जब आप बाहर निकलते हैं, तो अपनी नाक और मुंह ढंकना न भूलें।

दिवाली में क्या करें

  • पटाखे हमेशा सरकारी लाइसेंस वाली दुकान से ही खरीदें।
  • सेफ्टी बॉक्स में पटाखों को हमेशा बंद रखें।
  • हमेशा पटाखों को आग के सोर्स से दूर रखें।
  • Safe and Healthy Diwali के लिए बच्चों को पटाखों से दूर रखें।
  • हमेशा पटाखों के बॉक्स पर लिखे निर्देशों का पालन करें और सभी सेफ्टी प्रीकॉशन्स का पालन करें।
  • पटाखे जलाते समय अपने बच्चों को फिटिंग कॉटन के कपड़े पहनाएं।
  • पानी की एक बाल्टी में यूज किए पटाखों को डालें।
  • पटाखे केवल खुली जगहों में, जैसे मैदान या फील्ड में जलाएं।
  • रॉकेट जलाते समय, सुनिश्चित करें कि वे ऊपर की ओर हों और इसे जलाते वक्त खुली खिड़की, दरवाजे या सड़क की ओर न करें।
  • Safe and Healthy Diwali के लिए पटाखे को एक हाथ की दूरी से ही जलाएं, इससे ज्यादा करीब न जाएं।
  • किसी भी एक्सीडेंट की कंडीशन में हमेशा पानी की बाल्टी और कंबल तैयार रखें।
  • पटाखे जलाते समय अपने साथ फर्स्ट ऐड किट रखें ताकि मामूली चोट लगने पर इसे घर पर ट्रीट किया जा सके।
  • दीवाली के दौरान सुरक्षा का खयाल रखते हुए फायर इक्स्टिंगग्विशर का इंतजाम करके रखें।
  • ध्यान रहे कि बच्चे आतिशबाजी करते समय सही फूटवियर पहने हों।
  • अपने वाहनों को गैरेज में पार्क करें।
  • मिट्टी के दीयों का करें इस्तेमाल
Use clay lamps
  • दिवाली पर आप अपने घर को सजाने के लिए बिजली की झालर और लाइटें कितनी भी क्यों न लगा दी जाए लेकिन पारंपरिक मिट्टी के दीयों की बात ही अलग है। इस बार दिवाली पर भगवान आगे दीया जलाने के साथ ही घर सजाने के लिए भी मिट्टी के दीयों का ही इस्तेमाल करें। इस तरह से न सिर्फ आप वातावरण की सुरक्षा करेंगे बल्कि उन लोकल कारीगरों की भी मदद कर पाएंगे जो इन दीयों के जरिए ही अपना जीवनयापन करते हैं।
अग्निशमन की रखें जानकारी

आप जिस जगह पटाखे फोड़ रहे हों, उसके आसपास के ही इलाके में अग्निशामक होना बहुत जरूरी है। आप दमकल केंद्र का नंबर भी नोट करके रखें। अगर यह ना हो तो अचानक लगने वाली आग को रोकने के लिए पानी भरी बाल्टी या रेत होनी चाहिए ताकि अगर आग लग जाए तो उसे कंट्रोल किया जा सके। आप अपने घर के आसपास पानी की बाल्टी या रेत का इंतजाम करके रखें।जिससे आप एक Safe Diwal मना सके |

दिवाली में क्या न करें

एक बार में बहुत पटाखे न जलाएं क्योंकि इससे दुर्घटना हो सकती है।

भीड़-भाड़ वाली जगहों, संकरी गलियों में, आग लगने वाली जगहों या घर के अंदर पटाखे न जलाएं।

आनंदायक और Safe and Healthy Diwali मंनाने के लिए अपनी गैर मौजूदगी में अपने बच्चों को पटाखे न जलाने दें।

अपनी पॉकेट में या बैग में आतिशबाजी का सामान न रखें।

उस पटाखे को छू कर न देखें जो जलने के बाद दगा न हो। उसे छोड़ दें और दूसरा पटाखा जलाएं।

अपने हाथों में पकड़ कर पटाखे न जलाएं। पटाखे को जलाते समय कम से कम एक हाथ की दूरी बनाएं। अधिक सुरक्षित और प्रोडक्टिव एक्टिविटी का ऑप्शन चुने।

ढीले कपड़ों को पहनने से बचें, क्योंकि इसमें जल्दी आग पकड़ने का खतरा होता है। सिल्क और सिंथेटिक मटेरियल से बने कपड़े न पहनें।

पर्दे या ज्वलनशील सामग्री के पास जलता दिया या मोमबत्ती न रखें।

पटाखे जलाने के लिए माचिस या लाइटर का इस्तेमाल न करें।

पटाखों के साथ एक्सपेरिमेंट न करें या खुद के पटाखे न बनाएं।

Safe and Healthy Diwali मनाने के लिए अपने छोटे बच्चों को ऐसे पटाखे न दें जो विस्फोट कर सकते हैं, इसके बजाय उन्हें लाइट स्पार्कलर और जेंटलर आतिशबाजी करने को दें, जो उसके लिए सुरक्षित हो।

सड़कों पर पटाखे न फोड़ें क्योंकि इससे दुर्घटनाएं हो सकती हैं।

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे फेसबुक और व्हाट्सएप्प पर जरूर शेयर करें जिससे लोग जागरूक हो सके और एक Safe and Healthy Diwali को celebrate कर सके और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट Best Wishes हिंदी  के साथ।

Love SMS for Wife, Quotes , Messages

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here